काहे ला चीर-चीर कढमा बनाए सल्होर…सुगा गीत-

ग्राम-गोविंदपुर, ब्लाक-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से रामनंदन नेटी एक सुगा गीत सुना रहे हैं :
काहे ला चीर-चीर कढमा बनाए सल्होर-
सुगा मोर काहे के कलमा बनाए-
अचरा ला चीर-चीर कलमा बनाए सल्होर-
सुगा मोर कानी अंगारी कलमा बनाए…

Download (3 downloads)

ऐ हे होरी रे सुन ले राजा दशरथ…फागुन गीत-

ग्राम पंचायत-गोविंदपुर, विकासखण्ड-परतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से शिवनाथ एक फागुन गीत सुना रहे हैं, जिसे छेरता त्योहार के दूसरे दिन गया जाता है :
ऐ हे होरी रे सुन ले राजा दशरथ-
एखरे मोनी हो वरदान मांगे-
एखरे मोनी हो वरदान मांगता दस सुंदो मेरे बा-
दूवो रे लरिका मोला देदे-
वो रे महू चेला हो व नार…

Download (4 downloads)

हमारे गांव का नाम पहले गौरी था, बाद में बदलकर गोविंदपुर रखा गया…कहानी-

चांदनी चौक, गोविंदपुर, तहसील-प्रातापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से बस्तीराम नागवंसी गांव में निवासी हीराचंद पटेल से चर्चा कर रहे हैं, वे बता रहे हैं, पहले गांव का नाम गौरी था, बाद में नाम बदलकर गोविंदपुर रखा गया, ये जानकारी उन्हें अपने पूर्वजो से मिली है, वर्तमान में गांव का नाम गोविंदपुर है, जिसका अर्थ भगवान का स्थान है:  संपर्क नंबर@9425648073.

Download (4 downloads)

कोन मासे उधपति, कोन मासे करमाए…डोमकच्छ गीत-

ग्राम पंचायत-गोविंदपुर, विकासखण्ड-प्रातापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से हीराचंद पटेल एक डोमकच्छ गीत सुना रहे हैं :
कोन मासे उधपति, कोन मासे करमाए-
कोन मासे करमाए, कोन मासे हिरा रे डोमच्छ रसल भारी-
ये जेठ मासे उधपति, भादो मासे करमाए-
माघ मासे हीरा रे डोमच्छ रसल भारी-
कोन गावे उधपति, कोन गाए करमा रे…

Download (3 downloads)

एदे कहीन बड़े गे, सीचे जाबो लोलो दोनों तो परानी…भुनियारी गीत-

ग्राम पंचायत-मदन नगर, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से परसोसन सरगुजिहा में एक भुनियारी गीत सुना रहे हैं :
एदे कहीन बड़े गे, सीचे जाबो लोलो दोनों तो परानी-
खेत कर मोहानी, ये खेला भले गा-
कोन हरा कोड़ी धरे, कोन तोर मोरा भाई-
सीचे जाबे रे…

Download (2 downloads)