स्वास्थ्य स्वर : दाद बीमारी को ठीक करने का घरेलू उपचार…

प्रयाग विहार, मोतीनगर, रायपुर (छत्तीसगढ़) से वैद्य एच डी गांधी दाद जिसे एग्जिमा भी कहते हैं के घरेलू उपचार बता रहे हैं, जो इस तरह की बीमारी से ग्रषित हैं  वे आधा किलो तिली के तेल में 150 ग्राम कान्हेर की जड़ की छाल को डालकर उबालें  जब जड़ अच्छी तरह जल जाये तब उसे ठण्डा कर सीसी में भर लें और सुरक्षित रख लें और दाद वाले स्थान पर दिन में तीन बार लगायें इससे लाभ हो सकता है |
दूसरा तरबूज के छिलके को सुखाकर रख लें फिर उसे जलाकर उसके भस्म को सीसी में रख लें, उसके बाद उसे नारियल के तेल में मिलाकर लगायें |

तीसरा नीम की कोपलें छाछ में पीसकर दाद पर लगायें लाभ हो सकता है, सफाई का विशेष ध्यान रखें, मटर, चना, मसूर, उड़द की दाल का प्रयोग न करें, मिर्च मसाला गरिष्ठ भोजन का प्रयोग न करे, नहाने के लिए साबुन का प्रयोग न करें : संपर्क नंबर@9111061399.    Download (7 downloads)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *