आना मेरे गाँव तुम्हे मै दूँगी फूल कन्हेर के…कविता-

ग्राम पंचायत-सिलफिली, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से  प्रिया सिंह एक कविता सुना रही हैं :
आना मेरे गाँव तुम्हे मै दूँगी फूल कन्हेर के-
कुछ कच्चे कुछ पक्के घर हैं, एक पुराना ताल है-
सड़क बनेगी सुनती हूँ, इस कारण मेरी शान है-
छत पे आना टीले ऊपर, कई पेड़ हैं बेर के-
बाबा ने था पेड़ लगाया बापू ने फल खाये हैं-
भाई कैसे उसे काटने को रहते ललचाये हैं…

Download (20 downloads)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *