अब चिता नर भूल गए, पंछी के जात रतै…सरगुजिहा खेमटा गीत-

ग्राम पंचायत-मानपुर, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से बिगनराम एक सगुजिहा करमा खेमटा गीत सुना रहे हैं, इस गीत को करमा खेलते समय भादो महीने में गाया जाता है :
भज ले गोविंदा बहान, गया प्राण-
अब चिता नर भूल गए, पंछी के जात रतै-
उडी चली जा तकि विन्द्रा वन जाय रहते-
जान ला झन खेला लेया हेरे नजरी भरी देखे रहते…

Download (1 download)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *