पुर पड़ते बरंग हो, बरंग मामा ले…गोंडी गीत-

ग्राम-सावेर, तहसील-पखांजूर, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से रुक्ता हुसेंडी एक गोंडी गीत सुना रही हैं, जिसे शादी और होली के समय गया जाता है :
रे रे लोयो रे रेला, रेला रे रेला-
पुर पड़ते बरंग हो, बरंग मामा ले-
पुर पडते केडिंग हो, केडिंग बचा ले-
निया मियाड मतिक हो, मतिक मामा ले-
हिले यायो मंता हो, मंता बचा ले…

Download (0 downloads)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *