पैरी पहिर के चली जाबे डूमर खार…पारंपरिक दशहरा गीत-

ग्राम-पंचायत, सिलफिली, विकासखण्ड-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से मुनिया देवी, कलेश्वरी और फूलमती एक सरगुजिहा गीत सुना रहे हैं जिसे दशहरा त्योहार के समय गया जाता है :
पैरी पहिर के चली जाबे डूमर खार-
डुमरी कर डार टूटे याडा डहरी-
खेला-खेला ये बई रे, डबरी कर डार टूटे-
बजी तो पैरी बजाए रखबे मजे…

Download (1 download)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *