Tag Archives: water

हमारे वार्ड में एक भी हैण्डपंप नही है गर्मी में पानी की समस्या होती है…

ग्राम पंचायत-रामपुर, पोस्ट-रेवटी, ब्लाक-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से बुधनी और मानकुवारी बता रही हैं, उनके गांव के वार्ड क्रमांक 6 में पानी की समस्या है, वार्ड में पानी के लिए कुछ घरो में कुंए बने हैं, जिससे पानी उपयोग करते हैं, लेकिन गर्मी के समय कुंए सूख जाते हैं, जिससे पानी की समस्या बढ़ जाती है, गांव में 50 से अधिक जनसंख्या है और  एक भी हैण्डपंप नही है, समस्या के निराकरण के लिए उन्होंने अधिकरियो के पास आवेदन किया, लेकिन कोई सुनवाई नही हो रही है, इसलिए वे सीजीनेट के सांथियो से अपील कर रहे हैं, कि दिए गए नंबरो पर अधिकारियों से बात कर पानी की समस्या को हल कराने में मदद करें : PHE@8120171919, सरपंच@6264481658, सचिव @7697533053. बुधनी@ 8461037061.

Download (2 downloads)

 

impact: हमें बारिश के दिनो में झरिया का गंदा पानी पीना पड़ता था, अब साफ पानी की सुविधा हो गई है…

ग्राम-देवान पटपर, पंचायत-भेलकी, तहसील-पंडरिया, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से उदय मानिकपुरी बता रहे हैं, उनके गांव में पीने के पानी की समस्या थी, लोग झिरिया से पानी उपयोग करते थे, जो बारिश के दिनों में पानी गंदा हो जाता था, इससे लगभग 25 परिवार पीड़ित थे, समस्या के निराकरण के लिए उन्होंने कई बार पंचायत में आवेदन किया, लेकिन कोई सुनवाई नही हो रही थी, तब उन्होंने जुलाई महीने में सीजीनेट में अपनी समस्या को रिकॉर्ड कराया और अगस्त महीने में उनकी समस्या का निराकरण हो गया, इसलिए वे खुश हैं और सीजीनेट के सभी साथियो और संबंधित अधिकारियों को धन्यवाद दे रहे हैं |

Download (5 downloads)

impact: 3 सोलर प्लेट की जगह 2 सोलर प्लेट होने से बारिश में दूषित पानी पीना पड़ता था…

भांसी बंगाली कैम्प, जिला-दंतेवाडा (छत्तीसगढ़) से रीना अधिकारी बता रही हैं, उनके गांव में बोरिंग की समस्या थी, बोरिंग को चलाने के लिए 3 सोलर प्लेट के जगह  2 सोलर प्लेट लगे थे, जिससे बारिश के दिनो में बोरिंग से पानी नही मिल पता था, वे नदी, नाले से पानी लाकर पीते थे, दूषित पानी से लोग बीमार पड़ते थे, समस्या को हल कराने के लिए उन्होंने संबंधित अधिकारियों के पास आवेदन दिया, लेकिन उस पर कोई सुनवाई नही हो रही थी, तब उन्होंने सीजीनेट में अपनी समस्या को रिकॉर्ड किया जिसके 1 महीने के अंदर उनकी समस्या हल हो चुकी है, इसलिए वे सीजीनेट के साथियो और संबंधित अधिकारियों को धन्यवाद दे रही हैं, जिनकी मदद से समस्या हल हो गई |