कहां जागे राम चंदर, कहां जागे लक्ष्मन…डोमकच्छ गीत-

ग्राम पंचायत-गोविंदपुर, ब्लाक-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से राम नंदन एक डोमकच्छ गीत सुना रहे हैं :
कहां जागे राम चंदर, कहां जागे लक्ष्मन-
कहां जागे लोलो गे भरत भगवान-
मै का जानो हीरा रे, भारत भगवान-
राम गढ़े राम चंदर, जोइधा में लक्ष्मण-
भारतपुर लोलो रे भरत भगवान-
छेढा करा लीला रे भारत भगवान…

Download (1 download)

गांव में पानी की समस्या है, हम नाले का पानी पीते हैं, अधिकारी ध्यान नही देते…मदद की अपील-

चैनपुरपारा,  ग्राम-हरिहरपुर,  ब्लाक-प्रतापपुर,  जिला-सूरजपुर  (छत्तीसगढ़) से कृष्णदेव और सोभराम पावले बता रहे हैं, उनके गांव के वार्ड क्रमांक 8 में पानी की समस्या है, वर्तमान में वे नाले का पानी पी रहे हैं, वार्ड में 15 घर और 100 से ऊपर जनसंख्या है,  नाले का पानी पीने से लोग बीमार पड़ जाते हैं, समस्या को हल कराने के लिए उन्होंने ग्राम सभा में आवेदन किया लेकिन कोई सुनवाई नही हो रही है,  इसलिए वे सीजीनेट के सांथियो से अपील कर रहे हैं कि दिए गए नंबरो पर अधिकारियों से बात कर पानी की समस्या को हल कराने में मदद करें :  सरपंच@9753392622, सचिव@8889608926,  PHE@9801613225, CEO@9165689001. संपर्क नंबर@8889957512.

Download (1 download)

काहे ला चीर-चीर कढमा बनाए सल्होर…सुगा गीत-

ग्राम-गोविंदपुर, ब्लाक-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से रामनंदन नेटी एक सुगा गीत सुना रहे हैं :
काहे ला चीर-चीर कढमा बनाए सल्होर-
सुगा मोर काहे के कलमा बनाए-
अचरा ला चीर-चीर कलमा बनाए सल्होर-
सुगा मोर कानी अंगारी कलमा बनाए…

Download (3 downloads)

ऐ हे होरी रे सुन ले राजा दशरथ…फागुन गीत-

ग्राम पंचायत-गोविंदपुर, विकासखण्ड-परतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से शिवनाथ एक फागुन गीत सुना रहे हैं, जिसे छेरता त्योहार के दूसरे दिन गया जाता है :
ऐ हे होरी रे सुन ले राजा दशरथ-
एखरे मोनी हो वरदान मांगे-
एखरे मोनी हो वरदान मांगता दस सुंदो मेरे बा-
दूवो रे लरिका मोला देदे-
वो रे महू चेला हो व नार…

Download (3 downloads)

हमारे गांव का नाम पहले गौरी था, बाद में बदलकर गोविंदपुर रखा गया…कहानी-

चांदनी चौक, गोविंदपुर, तहसील-प्रातापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से बस्तीराम नागवंसी गांव में निवासी हीराचंद पटेल से चर्चा कर रहे हैं, वे बता रहे हैं, पहले गांव का नाम गौरी था, बाद में नाम बदलकर गोविंदपुर रखा गया, ये जानकारी उन्हें अपने पूर्वजो से मिली है, वर्तमान में गांव का नाम गोविंदपुर है, जिसका अर्थ भगवान का स्थान है:  संपर्क नंबर@9425648073.

Download (3 downloads)